ICC Champion Trophy: भारतीय टीम की टीम, भारतीय टीम की ताकत और कमजोरी

आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी को शुरू होने में अब सिर्फ चंद दिनों का फासला रह गया है और आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी के लिए सभी टीमों ने कमर कस ली है। इसी की तैयारियों के चलते आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी में हिस्सा लेने वाले सभी देशों ने अपने-अपने 15 सदस्य दल घोषित कर दिए हैं।

इस बार बहुत मुश्किलों के बावजूद इंडियन टीम भी आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी में हिस्सा ले रही है और इसी के तैयारियों के चलते भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी के लिए भारतीय टीम की घोषणा भी कर दी है इस बार बीसीसीआई ने 15 सदस्य टीम के अलावा पांच एक्स्ट्रा खिलाड़ियों को भी टीम में जगह दी है जो किसी मुश्किल में भारतीय टीम के काम आ सकते हैं।

Also See- ICC Champions Trophy History में अब तक की विजेता टीमों की कहानी

आइए देखते हैं चैंपियंस ट्रॉफी के लिए भारतीय टीम की ताकत और कमजोरियों:

भारतीय टीम की ताकत:

भारतीय टीम

Image: Cricinfo

इंडियन टीम की हमेशा से ही बल्लेबाजी ताकत रही है और इस बार भी चैंपियंस ट्रॉफी के दौरान इंडियन टीम की सबसे बड़ी ताकत उसकी बल्लेबाजी ही रहेगी इस बार इंडियन टीम की बल्लेबाजी की कमान खुद विराट कोहली के हाथों में है इसके अलावा उनका साथ दे रहे हैं रोहित शर्मा, शिखर धवन, महेंद्र सिंह धोनी, युवराज सिंह और अजिंक्या रहाणे।

इसके अलावा भारतीय टीम की गेंदबाजी भी इस बार संतुलित नजर आ रही है और इसकी सबसे बड़ी वजह है जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार का फॉर्म। इन दोनों ने आईपीएल 2017 में बहुत अच्छा प्रदर्शन किया है जिसकी बदौलत इनकी टीमों ने भी अच्छा प्रदर्शन किया है।

भारतीय टीम की कमजोरी:

भारतीय टीम

Image: Oneindia

इस बार भारतीय टीम की कोई कमजोरी तो नहीं है लेकिन सबसे बड़ी समस्या है इंडियन टीम के टॉप बल्लेबाजों का फॉर्म में ना होना, अभी हम सभी ने IPL में देखा है कि इस साल न तो रोहित शर्मा का बदला चला है और ना ही हमें विराट कोहली के बल्ले का दम दिखा है।

इस बार इंडियन टीम के लिए गेंदबाजी में भी समस्या है क्योंकि पिछले दो महीनों से इंडियन टीम के स्टार ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन क्रिकेट से दूर है और वह अब सीधे ही चैंपियंस ट्रॉफी में वापसी करने वाले हैं जिसकी वजह से भारतीय टीम को थोड़ी समस्या हो सकती है।

15 सदस्यीय भारतीय टीम-  रोहित शर्मा, शिखर धवन, विराट कोहली(कप्तान), महेंद्र सिंह धोनी(विकेटकीपर), युवराज सिंह, केदार जाधव, अजिंक्य रहाणे, मनीष पांडे, हार्दिक पंड्या, रविचंद्रन अश्विन, रविंद्र जडेजा, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी और उमेश यादव।

5 स्टैंडबाई खिलाड़ी- सुरेश रैना, कुलदीप यादव, रिषभ पंत, दिनेश कार्तिक और शार्दुल ठाकुर।

Related Posts