भारत बनाम श्रीलंका फ्लैशबैक: जब भारत ने श्रीलंका को हराकर 28 साल बाद वर्ल्ड कप जीता था

आज से Sportzpari.com आपके लिए रोजाना भारत और श्रीलंका के बीच क्रिकेट इतिहास के कुछ चुनिंदा मैचों के फ्लैशबैक लेकर आएंगे। आज हम आपको 2011 में हुए भारत और श्रीलंका के बीच फाइनल मैच की कहानी बताएंगे। इस फाइनल मैच को जीतकर भारत ने 28 साल बाद आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप जीता था।

तो चलिए शुरू करते हैं भारत और श्रीलंका के बीच हुए सबसे मज़ेदार मैच की फ्लैशबैक सीरीज- 

2011 क्रिकेट वर्ल्ड कप में भारत और श्रीलंका फाइनल में पहुंचे थे। इस क्रिकेट वर्ल्ड कप में भारत और श्रीलंका दोनों का प्रदर्शन बहुत अच्छा रहा था और इसी क्रिकेट वर्ल्ड कप में मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने अपना 99 वां शतक लगाया था और इसी वर्ल्ड कप में श्रीलंका के सलामी बल्लेबाज तिलकरत्ने दिलशान ने 9 मैचों में 500 से ज्यादा रन बनाए थे।

2 अप्रैल 2011 को मुम्बई के वानखेडे क्रिकेट स्टेडियम में श्रीलंका के कप्तान कुमार संगकारा ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। लेकिन पहले बल्लेबाजी करने उतरी श्रीलंका की शुरुआत अच्छी नहीं रही और सलामी बल्लेबाज उपुल थरंगा 02 रन बनाकर आउट हो गए।

कुमार संगकारा और महिला जयवर्धने बने संकटमोचन-

Mahela Jaywardhane and Kumar Sangakkara, ICC Cricket World Cup 2011, Flashback of India versus Sri Lanka cricket

Mahela Jaywardhane and Kumar Sangakkara 62 Run Partnership in 2011 World Cup ©Sky Sports

एक समय जब श्री लंका 60 रन के स्कोर पर दोनों सलामी बल्लेबाजों का विकेट गंवा चुकी थी। तब श्रीलंकाई कप्तान कुमार संगकारा और महिला जयवर्धने ने मोर्चा संभाला और अपनी टीम का स्कोर 125 के पास पहुंचाया। लेकिन एक बार फिर युवराज सिंह भारत के लिए ट्रंप कार्ड साबित हुए और उन्होंने कुमार संगकारा को 48 रन के स्कोर पर आउट कर दिया।

महिला जयवर्धने फाइनल में शतक जड़ने वाले पहले खिलाड़ी बने- 

Mahela jaywardhane 100 in 2011 World Cup, first player of Sri Lanka who played a ton in ICC final

Mahela jaywardhane 100 in 2011 World Cup © Sky Sports

भारत के खिलाफ 2011 क्रिकेट विश्व कप के फाइनल में महिला जयवर्धने ने शानदार पारी खेली और इस दौरान उन्होंने अपने करियर में पहली बार किसी ICC टूर्नामेंट के फाइनल में शतक भी लगाया। महिला जयवर्धने ने अंतिम ओवरों में तिसारा परेरा के साथ मिलकर ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की और निर्धारित 50 ओवरों में भारत के सामने 275 रनों का पहाड़ नुमा लक्ष्य रख दिया।

लसिथ मलिंगा ने फैंस की उम्मीदों पर पानी फेरा- 

Lasith Malinga celebrate Sachin's wicket in world cup final 2011, Sachin Sachin Tendulkar, Lasith Malinga, Lasith Malinga face of Sachin Tendulkar

Lasith Malinga Celebrate Sachin’s Wicket in World Cup Final 2011 ©Getty Images

पूरा क्रिकेट जगत और हम सभी यही उम्मीद लगाए बैठे थे कि मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर 2011 क्रिकेट वर्ल्ड कप में अपने होम ग्राउंड में करियर का 100 वां शतक लगाए। लेकिन इन सभी की उम्मीदो पर लसित मलिंगा ने पानी फेर दिया और सचिन तेंदुलकर को 18 रनों के स्कोर पर कुमार संगकारा के हाथों कैच आउट करवा दिया।

विराट कोहली और गौतम गंभीर ने भारत को संकट से उभारा-

Gautam Gambhir and Virat Kohli 83 Run partnership against Sri Lanka in ICC Cricket World Cup 2011,  Gautam Gambhir Gautam Gambhir and Virat Kohli, Gautam Gambhir and Virat Kohli in ODI,

Gautam Gambhir and Virat Kohli 83 Runs partnership against Sri Lanka in ICC Cricket World Cup 2011 ©Getty Images 

एक समय जब भारत 31 रन पर अपने दोनों सलामी बल्लेबाजो का विकेट खो चुका था तब भारत को दबाव में से निकाला अनुभवी गौतम गंभीर और युवा बल्लेबाज विराट कोहली ने। इन दोनों ने संभलकर बल्लेबाजी करते हुए पहले तो भारत को दबाव में से बाहर निकाला।

फिर दोनों ने आक्रामक शॉट खेले। लेकिन इसी दौरान एक शॉट खेलते हुए विराट कोहली तिलकरत्ने दिलशान की शानदार फील्डिंग के शिकार हो गए। विराट कोहली के आउट होने से पहले विराट कोहली और गौतम गंभीर ने 83 रनों की मैच जिताऊ साझेदारी की थी।

गौतम गंभीर की शानदार पारी – 

Gautam Gambhir winning knock in 2011 World Cup ©SK Image

2011 क्रिकेट विश्व कप में गौतम गंभीर ने जुझारूपन दिखाते हुए शानदार 97 रनों की पारी खेली थी और इसी पारी के कारण 2011 क्रिकेट विश्व कप में भारत की जीत की नींव डली थी। गौतम गंभीर इस शानदार पारी के बावजूद मैच को खत्म नही कर पाए और ऑफ में चौका लगाने के प्रयास में तिषारा परेरा की गेंद में बोल्ड हो गए।

महेंद्र सिंह धोनी 91* और विश्व कप का जीत का छक्का – 

ICC Cricket World Cup 2011 winning moments Yuvraj Singh and Mahendra Singh Dhoni, winning moments, ICC ICC Cricket World Cup 2011

ICC Cricket World Cup 2011 winning moments Yuvraj Singh and Mahendra Singh Dhoni © Media Source

जब गौतम गंभीर आउट हुए थे तब भारत को जीत के लिए 52 रन ओर चाहिए थे और इस दौरान क्रीज पर उस समय के भारतीय कप्तान मौजूद थे। महेंद्र सिंह धोनी ने युवराज सिंह के साथ मिलकर भारतीय टीम को गौतम गंभीर के विकेट के दबाव से उभारा।

इसके बाद महेंद्र सिंह धोनी रुके नही और उन्होंने लसिथ मलिंगा और नुवान कुलसेकरा की गेंदों पर बहुत बाउंड्री लगाई और फिर धोनी ने 49 वे ओवर की 2th गेंद पर नुवान कुलसेकरा की गेंद पर मिडविकेट के ऊपर से शानदर छक्का लगाते हुए भारत को 2011 क्रिकेट वर्ल्ड कप का विजेता बना दिया।

इसी के साथ ही भारत का 28 साल का वर्ल्ड कप जीतने का सूखा खत्म हुआ।  महेंद्र सिंह धोनी को नाबाद 91 रनों की पारी खेलने के कारण मैन ऑफ द मैच चुना गया। जबकि युवराज सिंह को ICC क्रिकेट वर्ल्ड कप 2011 का प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट हो गया।

Related Posts