भारत की शर्मनाक हार में धोनी ने बनाये अनचाहे रिकॉर्ड

भारत और वेस्टइंडीज के बीच एंटीगुआ में खेले गए चौथे एकदिवसीय मुकाबले में भारत को करारी हार का सामना करना पड़ा और भारतीय टीम यह मुकाबला 11 रनों से हार गई। वेस्टइंडीज ने पहले बल्लेबाजी करते हुए भारतीय टीम के सामने 190 रन का साधारण स्कोर बनाया था। जिसके जवाब में भारतीय टीम 178 रन बनाकर ऑल आउट हो गई। भारतीय टीम की ओर से सलामी बल्लेबाज़ अजिंक्य रहाणे और धोनी के अलावा कोई और बल्लेबाज क्रीज पर नहीं टिक पाया। वही वेस्टइंडीज की ओर से कप्तान जेसन होल्डर ने शानदार गेंदबाजी करते हुए 5 विकेट हासिल किए।

इससे पहले वेस्टइंडीज के खिलाफ कम स्कोर का पीछा करते हुए भारतीय टीम 1999 में 190 रन का स्कोर चेस नहीं कर पाई और हार गयी थी। 1987 में भी भारतीय टीम वेस्टइंडीज के खिलाफ 187 रन का स्कोर चेंज नहीं कर पाई और हार का सामना करना पड़ा।

यह भी देखे – टी20 क्रिकेट इतिहास में सबसे ज्यादा छक्के लगाने वाले खिलाड़ी

भारतीय टीम की ओर से सलामी बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे ने 60 रन बनाए और धोनी ने 114 गेंदों में 54 रन की पारी खेली। धोनी ने इस मैच में 54 रनों की धीमी पारी में ना चाहते हुए भी यह शर्मनाक रिकॉर्ड अपने नाम किए।

धोनी ने इस पारी में 100 गेंदे खेलने के बावजूद एक बाउंड्री भी नहीं लगाई जो की एक बहुत शर्मनाक रिकॉर्ड है धोनी ने इस 54 रन की पारी में एकमात्र चौका लगाया वह भी 100 गेंदे खेलने के बाद।

धोनी ने इस पारी के दौरान अपने करियर में सबसे ज्यादा डॉट गेंदे खेलने का रिकॉर्ड भी अपने नाम किया।  धोनी इस पारी में 70 डॉट बॉल खेली इससे पहले धोनी ने 2009 में वेस्टइंडीज के खिलाफ 69 डॉट बॉल खेली थी।

25 से ज्यादा रन बनाने के बाद सबसे धीमी पारी-  धोनी ने अपने करियर में इससे पहले 25 से ज्यादा रन बनाने के बाद उनका स्ट्राइक रेट हमेशा अच्छा रहा है।लेकिन इस पारी में 25 रन बनाने के बावजूद उनका स्ट्राइक रेट 50 से कम रहा।

Related Posts