रविचंद्रन अश्विन ने दिखाई बहादुरी, टॉस के मामले में निकले सब कप्तानों से अलग

आईपीएल सीजन 11 में पहली बार किसी कप्तान ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। यह फैसला किंग्स इलेवन पंजाब के कप्तान रविचंद्रन अश्विन ने सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ मैच में लिया।

आईपीएल:- आईपीएल सीजन 11 में अब तक जितने भी टॉस हुए थे उनमें टॉस जीतने वाले कप्तान ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का ही फैसला किया था। लेकिन कल रात खेले गए एक मैच में पंजाब के कप्तान अश्विन ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया।

यहां यह उल्लेखनीय है कि पिच रिपोर्ट और अन्य क्रिकेट एक्सपर्ट्स के द्वारा यह पूर्वानुमान लगाया जा रहा था कि टॉस जीतने वाला कप्तान पहले गेंदबाजी करना पसन्द करेगा जैसा कि अब तक इस सीजन में होता आ रहा था। लेकिन अश्विन ने सबको चौंकाते हुए पहले बल्लेबाजी करना पसन्द किया।

यह भी पढ़ें:-आईपीएल के 10 सीजन की विजेता टीमें (2008 से 2017 तक)

उनके इस निर्णय के पीछे 2 बाते महत्वपूर्ण थीं। एक तो यह कि वे अपना पिछला मैच टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाजी करते हुए ही जीते थे। दूसरा यह कि अभी तक जितने मुकाबले हैदराबाद ने खेले थे उनमें सभी में उन्हें बहुत ही कम स्कोर चेज करने को मिला था जिसे वे आसानी से हासिल कर रहे थे। इसलिए आश्विन ने अपने दिगज्ज बल्लेबाजों जैसे कि लोकेश राहुल, क्रिस गेल, मयंक अग्रवाल आदि को जमकर रन बनाने की आजादी दी।

अश्विन के फैसले पर जहां सभी क्रिकेट एक्सपर्ट हैरानी जता रहे थे वहीं क्रिस गेल किसी दूसरे मूड से ही बल्लेबाजी को उतरे। उन्होंने शुरुआत में ही छक्के लगाने शुरू कर दिए और अंत में आईपीएल के इस सीजन के पहले शतक को अंजाम दिया। उन्होंने 63 गेंद का सामना करते हुए नाबाद 104 रन की पारी खेली। इस पारी में 1 चौका और 11 तारामण्डलीय छक्के भी लगाये।

यह भी पढ़ें:-IPL 2018: इन तीन बड़े कारणों की वजह से लगातार हार रही है मुंबई इंडियंस

गेल के शतक की बदौलत पंजाब ने 20 ओवर में 3 विकेट खोकर 193 रन बनाए। लक्ष्य का पीछा करने उतरी हैदराबाद 20 ओवर में 4 विकेट खोकर 178 रन ही बना सकी और इस तरह पंजाब ने यह मुकाबला 15 रन से अपने नाम कर लिया।

सम्बंधित ख़बरे