IPL 2018: वॉटसन और धोनी की विस्फोटक पारियों की बदौलत चैन्नई सुपर किंग्स ने दर्ज की आईपीएल 2018 की छठी जीत

इस जीत के साथ ही चेन्नई सुपर किंग्स एक बार फिर अंकतालिका में पहले स्थान पर पहुंच गई है

IPL 2018:- कल रात IPL 2018 में चेन्नई सुपरकिंग्स और दिल्ली डेयरडेविल्स के बीच एक रोमांचक मुकाबला खेला गया जिसमें चेन्नई ने 13 रन से जीत दर्ज की। इस जीत के साथ ही चेन्नई अंकतालिका में एक बार फिर से टॉप पर आ गई है। इस मैच में टॉस दिल्ली ने जीता और पहले फील्डिंग करने का निर्णय किया। दिल्ली की टीम में इस मैच के लिए कोई बदलाव नहीं किया गया और वहीं चेन्नई की तरफ से 4 खिलाड़ियों को बदला गया।

चेन्नई की ओर से फाफ डु प्लेसिस और शेन वाटसन ने ओपन किया। दोनों ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए दिल्ली के पहले गेंदबाजी करने के फैसले को गलत साबित किया। विशेषकर शेन वाटसन छक्के लगाने के मूड में नज़र आये। दोनों के बीच शतकीय साझेदारी(102) के बाद डु प्लेसिस 33 गेंद पर 3 चौकों और 1 छक्के की मदद से 33 रन बनाकर विजय शंकर की गेंद पर बोल्ट को कैच दे बैठे।

उसके बाद क्रीज पर सुरेश रैना आये और ग्लेन मैक्सवेल की गेंद पर छक्का लगाने के प्रयास में चूक गए और गेंद स्टम्प को ले उड़ी। रैना 2 गेंद में 1 रन बना पाए। चेन्नई को तीसरा झटका अमित मिश्रा ने वाटसन को आउट करते हुए दिया। वाटसन 40 गेंद में 78 रन बनाकर आउट हुए। इस पारी में 4 चौके और 7 छक्के भी लगाये।

रायडू और धोनी ने धुआंधार बल्लेबाजी की। रायडू ने 24 गेंद में 41 रन बनाए तो वहीं धोनी ने 22 गेंद में 51 रन की शानदार पारी खेली। इस प्रकार बल्लेबाजों के शानदार प्रदर्शन से चेन्नई ने 20 ओवर में 4 विकेट पर 211 रन बनाए।

दिल्ली के शुरुआती बल्लेबाजों ने निराश किया। दिल्ली का पहला वीकेट पृथ्वी शॉ(9) के रूप में गिरा। मुनरो ने आतिशी बल्लेबाजी की कोशिश की लेकिन वे 16 गेंद में 26 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। कप्तान श्रेयस अय्यर रन आउट का शिकार हुए। वे 13 रन बना सके। ग्लेन मैक्सवेल भी नाकाम रहे और 6 रन जोड़ सके।

 

विकेटकीपर ऋषभ पंत ने शानदार बल्लेबाजी की लेकिन उन्हें किसी बल्लेबाज़ के द्वारा सहयोग नहीं मिल पाया। दिल्ली को जीतने के लिए तेज़ी से रन बनाने की जरूरत को ध्यान में रखकर पंत हर गेंद पर प्रहार कर रहे थे। इसी कोशिश में वे लुंगी नगीडी की गेंद पर जडेजा के हाथों कैच आउट हुए। उन्होंने 45 गेंद में 79 रन बनाए।

उनके आउट होने के बाद दिल्ली की जीत की आशाएं धूमिल हो गई। तभी विजय शंकर ने ब्रावो को 3 छक्के लगाकर मैच में रोमांच भर दिया लेकिन अंतिम ओवर में जीत के लिए 28 रन चाहिए थे जो दिल्ली की टीम नहीं बना पाई और यह मैच 13 रन से हार गई। विजय शंकर ने 31 गेंद पर नाबाद 54 रन बनाए। Play Quiz: आईपीएल से जुड़े 10 आसान सवालों के जवाब देकर जीते 500₹ तक का Paytm कैश