गौतम गंभीर ने छोड़ी दिल्ली रणजी टीम की कप्तानी, कहा युवा खिलाड़ियों की मिलनी चाहिए जिमेदारी

दिल्ली की टीम का रणजी ट्रॉफी 2018-19 में पहला मुकाबला 12 नवंबर को है

नई दिल्ली: रणजी ट्रॉफी में दिल्ली टीम के कप्तान गौतम गंभीर ने दिल्ली की कप्तानी छोड़ने का फैसला किया है। दिल्ली की कप्तानी छोड़ते हुए उन्होंने कहा कि दिल्ली का कप्तान अब किसी युवा खिलाड़ियों को बनाना चाहिए। गौतम गंभीर के कप्तानी छोड़ने के बाद रणजी ट्रॉफी में दिल्ली का कप्तान नितीश राणा को बनाया गया है।

गौतम गंभीर को इस सत्र की शुरुआत में दिल्ली की टीम का कप्तान बनाया गया था। गौतम गंभीर की कप्तानी में दिल्ली की टीम ने विजय हजारे ट्रॉफी के फाइनल में जगह बनाई थी। लेकिन फाइनल मुकाबले में दिल्ली मुंबई से हार गई और खिताब जीतने से चूक गई थी। गौतम गंभीर ने कप्तानी छोड़ने के बावजूद अभी तक यह साफ नहीं किया है कि वह दिल्ली की ओर से खेलते रहेंगे या नहीं।

आपको बता दें कि दिल्ली की टीम 12 नवंबर को फिरोज शाह कोटला में हिमाचल प्रदेश के खिलाफ इस रणजी सीजन का पहला मुकाबला खेलेगी। लेकिन पहले मुकाबले से पहले ही गौतम गंभीर के इस बड़े फैसले के कारण दिल्ली को बड़ा झटका लगा है।

कप्तानी छोड़ने के साथ अगर गौतम गंभीर सत्र में खेलते भी नहीं है तो दिल्ली के लिए बहुत बुरा होगा। क्योंकि गौतम गंभीर दिल्ली की टीम के सबसे अनुभवी खिलाड़ी है और शिखर धवन-ऋषभ पंत की अनुपस्थिति में दिल्ली की टीम को अच्छे से संभाल रहे थे।

सम्बंधित ख़बरे