हॉकी विश्वकप: जर्मनी ने नीदरलैंड को किया धराशायी, पाकिस्तान और मलेशिया ने खेला रोमांचक ड्रॉ

आज की जीत के बाद जर्मनी 2 मैचों में 6 अंकों के साथ पूल डी में शीर्ष पर पहुंच गई है।

भुवनेश्वर: पुरुष हॉकी विश्वकप 2018 के दौरान आज कलिंगा स्टेडियम में पूल डी के दो मैच खेले गए। इनमें से पहला मुकाबला पिछले विश्वकप की रनरअप रही नीदरलैंड और जर्मनी बीच हुआ। इस मैच में जर्मनी ने नीदरलैंड को 4-1 के बड़े अंतर से परास्त कर दिया। वहीं आज का दूसरा मुकाबला पाकिस्तान और मलेशिया के बीच हुआ। इस रोचक मुकाबले को दोनों टीमों ने एक-एक की बराबरी पर खत्म किया।

Photo Source: Hockey India

जर्मनी और नीदरलैंड के बीच हुए इस मुकाबले में पहला गोल नीदरलैंड की तरफ से 13वें मिनट में वेरगा वेलेंटाइन ने किया और टीम को 0-1 की बढ़त दिला दी। वेरगा द्वारा किया गया यह गोल इस विश्वकप का 50वां गोल था। हाफ टाइम से थोड़ा पहले जर्मनी की तरफ से मथीस मुलर ने गोल दाग कर गेम को और रोमांचक बना दिया।

आखिरी क्वार्टर में बदला गेम

हाफ टाइम के बाद गेम बड़े ही रोमांचक अंदाज में आगे बढ़ रहा था। दोनों टीम अपने विरोधी को कोई मौका नहीं देना चाहती थीं। तीसरे क्वार्टर तक दोनों टीम काफी रक्षात्मक नज़र आ रही थीं लेकिन गेम के आखिरी क्वार्टर में नीदरलैंड ने आक्रामक रुख अपनाने की कोशिश में कुछ गलतियां की। जिसका फायदा उठाकर 52वें मिनट में लुकास वाइंडफीडर ने जर्मनी की तरफ से दूसरा गोल दाग दिया। दूसरे गोल के बाद जर्मनी ने मैच पर अपनी पकड़ मजबूत कर ली और फिर नीदरलैंड को हावी होने का मौका ही नहीं दिया। 54वें मिनट में जर्मनी की तरफ से मिलत्कु ने गोल कर टीम को 3-1 की बढ़त दिला दी। मैच के 58वें मिनट में रूर ने एक और गोल दाग दिया। इस गोल के साथ जर्मनी की जीत पक्की नज़र आने लगी और मैच 4-1 से खत्म हो गया। इस जीत के साथ जर्मनी डायरेक्ट क्वार्टर फाइनल में पहुंचने वाली पहली टीम बन गई है।

Photo Source: Hockey India

नीदरलैंड और जर्मनी ने खेले हैं सबसे ज्यादा मैच

जर्मनी और नीदरलैंड के बीच हॉकी का यह 204वां मुकाबला था। अब तक हुए मुकाबले में जर्मनी ने कुल 86 मैचों में जीत दर्द की है। जबकि, नीदरलैंड ने अभी तक कुल 64 मैच ही जीत पाया है। इसके अलावा दोनों टीमों के बीच हुए 54 मैच ड्रॉ रहे हैं। वहीं विश्वकप के दौरान दोनों देशों ने 10 मैच खेले हैं, जिनमें से जर्मनी 4 और नीदरलैंड ने 3 में जीत दर्ज की है। गौरतलब है कि नीदरलैंड और जर्मनी के नाम आपस में सबसे ज्यादा हॉकी मैच खेलने का रिकॉर्ड है।

Photo Source: Hockey India

5 मिनट पहले मलेशिया की तरफ से हुआ गोल

वहीं दिन के दूसरे मैच के पहले हॉफ तक दोनों ही टीम कोई गोल नहीं कर सकीं। पहले क्वार्टर में मलेशिया को चार और पाकिस्तान को दो पेनल्टी कॉर्नर मिले लेकिन दोनों टीमें गोल नहीं कर सकीं। दूसरे क्वार्टर में मलेशिया को दो और पाकिस्तान को एक पेनल्टी कॉर्नर मिला, जिसे दोनों टीमें भुना नहीं पाईं। दूसरे हॉफ में भी दोनों टीम बड़ी ही संतुलित नज़र आ रही थीं। तीसरे क्वार्टर में मलेशिया के पास गोल करने के दो मौके आए, लेकिन वे गोल में तब्दील नहीं हो सके। मैच के आखिरी क्वार्टर के दौरान 51वें मिनट में मुहम्मद आतिक ने मलेशिया की रक्षा पंक्ति को ध्वस्त करते हुए बड़ी ही सफाई से बॉल को गोलपोस्ट में पहुंचा कर पाकिस्तान को 1-0 की बढ़त दिला दी। हालांकि, पाकिस्तान की यह खुशी ज्यादा देर तक टिक न सकी। 55वें मिनट में मलेशिया को मिले एक पेनल्टी कॉर्नर को फैसल सारी ने गोल में तब्दील कर गेम को बराबरी पर ला खड़ा किया। आखिरी के 5 मिनट में दोनों टीम गोल के लिए जूझती दिखीं लेकिन सफलता किसी को नहीं मिली।

Photo Source: Hockey India

9 दिसंबर को होगा अगला मुकाबला

आज के मैच के बाद पूल डी जर्मनी 2 मैचों में 6 अंक के साथ पहले स्थान पर है वहीं, नीदरलैंड 4 अंक के साथ दूसरे पर है। जबकि, पाकिस्तान और मलेशिया 1-1 अंक के साथ क्रमशः तीसरे और चौथे पायदान पर हैं। पाकिस्तान का अगला मैच 9 तारीख को नीदरलैंड के साथ होगा, जबकि उसी दिन मलेशिया जर्मनी के साथ खेलेगी।