भारतीय फ़ुटबॉल टीम ने केन्या को 2-0 से हराकर जीता इंटरकॉन्टिनेंटल कप

जीत के बाद भारतीय टीम के खिलाड़ियों ने स्टेडियम में मौजूद दर्शको का अभिवादन किया।

मुंबईः चार देशो के बीच शुरू हुए इंटरकॉन्टिनेंटल कप 2018 का फाइनल मुकाबला आज मुंबई के अँधेरी स्पोर्ट्स क्लब में खेला गया। खिताबी भिड़त में सुनील छेत्री के नेतृत्व में भारतीय फुटबाल टीम ने केन्या को 2-0 से हराकर इंटरकॉन्टिनेंटल कप जीत लिया।

भारत की तरफ से दोनों गोल कप्तान सुनील छेत्री ने किए। मैच का पहला गोल सुनील छेत्री ने 8वे और दूसरा गोल 29वे मिनट में कर भारत को 2-0 की बढ़त दिला दी। पहले हाफ के समाप्त होने तक भारतीय टीम के पास 2-0 की बढ़त थी। दूसरे हाफ में भारतीय टीम ने रक्षात्मक खेल दिखाया, इस दौरान केन्या ने गोल के कई मौके बनाये पर कामयाब नही हुए।

सुनील छेत्री ने इस मैच के दौरान एक और कीर्तिमान अपने नाम कर लिया है। छेत्री ने इस मैच में जैसे ही दूसरा गोल दागा उसी के साथ वो अंतर्राष्ट्रीय फुटबॉल मैचों में सबसे अधिक गोल करने के मामले में संयुक्त रूप से लियोनेल मेसी  के साथ दूसरे स्थान पर आ गए है। इन दोनों खिलाड़ियों के नाम पर अब 64 अंतरराष्ट्रीय गोल दर्ज हैं।

भारतीय टीम का इस टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन रहा। भारत ने इससे पहले केन्या को इस टूर्नामेंट के लीग मैच में भी 3-0 से हराया था जो कप्तान छेत्री का देश के लिये 100 वां मैच भी था, उस मैच में भी सुनील छेत्री ने दो गोल किये थे। इसके अलावा भारतीय टीम ने इस टूर्नामेंट के अपने पहले मैच में चीनी ताइपे को 5-0 से करारी शिकस्त दी थी, हालांकि तीसरे मुकाबले में भारतीय टीम को 1-2 से हार का सामना करना पड़ा था।