इंडिया इज द बेस्ट इन द टेस्ट: खुद ही जान लो कैसे

श्रीलंका:- पिछले कुछ सालों में भारतीय क्रिकेट में काफी बदलाव आया है। आईपीएल ने भारत के लिए कई नए चेहरों की खोज में मदद की है। यही कारण है कि पिछले एक साल से अब तक खेली गई पारी यही बयान करती है कि इंडिया इज द बेस्ट इन द टेस्ट ।

आप सोच रहे होंगे कि भारत को हम “इंडिया इज द बेस्ट इन द टेस्ट” क्यों कह रहे हैं। चलो इस बात से पर्दा उठाते हैं और आपको सच्चाई से रूबरू कराते हैं।

टेस्ट में 600+ का स्कोर

पिछले एक साल से काफी अंतराष्ट्रीय टेस्ट मैच देखने को मिले हैं है लेकिन भारत सब से आगे निकल चुका है। भारत ने इस एक साल में जितने भी टेस्ट मैच खेले हैं उनमें 5 बार एक पारी का स्कोर 600 से ज्यादा बनाया है। वहीँ इसी समय के दौरान किसी अन्य देश के द्वारा सिर्फ एक बार ही 600 से ज्यादा स्कोर बनाया जा सका। इस लिए अब तो आप भी कहेंगे कि हाँ , “इंडिया इज द बेस्ट इन द टेस्ट”।
चैंपियंस ट्रॉफी के विलेन रविंद्र जडेजा टेस्ट में करेंगे एक नया धमाका
आइये थोड़ा-सा उन 5 पारियों का विश्लेषण भी कर लें

1. 2016 में भारत इंग्लैंड के साथ खेल रहा था। सीरीज के चौथे टेस्ट में इंग्लैंड ने पहले बैटिंग करते हुए 400 रन बनाये इसके जवाब में भारत ने कोहली के 235 रन के साथ 631 का स्कोर खड़ा कर दिया। यह मैच भारत ने जीता था।

2. उसी सीरीज के 5वें मैच में इंग्लैंड ने 477 रन बनाए लेकिन भारत ने इसका जवाब बेखूबी निभाया और 759 रन का पहाड़ खड़ा कर दिया। इस मैच में भी भारत की जीत हुई।

सचिन के बाद टेस्ट में विराट कोहली के नाम दर्ज हुआ एक और रिकॉर्ड

3.2017 में बांग्लादेश के साथ खेलते हुए भारत ने पहले बल्लेबाजी की और 687 का स्कोर खड़ा किया और इसमें कोहली ने 204 रन बनाए। यह मैच भी भारत ने जीता था

4. 2017 में ही ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध भारत ने 603 रन बनाए जिसमे चेतेश्वर पुजारा ने 202 रन बनाए। यह मैच ड्रा हुआ।

5. अभी हाल ही में श्रीलंका के खिलाफ भारत ने 600 से ज्यादा स्कोर किया है इसमें धवन ने 190 और पुजारा ने 153 रन बनाए । इस मैच में भारत जीतने के करीब है।

बाकि जितने भी टेस्ट प्लेइंग देश हैं सब के सब भारत से नीचे हैं।
क्योंकि जहाँ भारत एक ओर 5 बार 600+ बना चुका है वहीं दूसरे देशों में से सिर्फ ऑस्ट्रेलिया ने यह कारनामा किया है। उसने 2016 में पाकिस्तान के विरुद्ध 624 का स्कोर बनाया था और मैच अपने नाम किया था।

तो आपने देखा कि क्यों अब भी ‘इंडिया इज द बेस्ट इन द टेस्ट’ है और सब प्लेयर्स की फॉर्म तथा आने वाले नए खिलाडियों के जोश से फिलहाल तो यही लगता है कि भारत आने वाले समय में भी बेस्ट रहेगा।

Related Posts