Sportzpari Hindi
Sports News In Hindi

IND VS NZ- हैमिल्टन टी20 को न्यूजीलैंड ने रोमांचक अंदाज में किया अपने नाम, इस तरह मैच में रहा जबरदस्त रोमांच

न्यूजीलैंड ने भारत को तीसरे और अंतिम मुकाबले में 4 रनों से हराकर सीरीज को किया 2-1 से अपने नाम

न्यूजीलैंड के दौरे पर भारतीय टीम ने तीन मैचों की टी-20 सीरीज के अपने तीसरे और अंतिम मैच को 4 रनों के करीबी अंतर से गंवाने के साथ ही सीरीज को भी गंवा दिया। इस मैच में न्यूजीलैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 212 रन बनाए जिसके जवाब में भारतीय टीम ने अंतिम कोशिश के बाद 208 रन ही बना सकी।

न्यूजीलैंड की टीम ने इस मैच में टॉस गंवाने के बाद पहले बल्लेबाजी की। रोहित शर्मा ने न्यूजीलैंड को आसान पिच देखते हुए बल्लेबाजी का न्योता दिया। और न्यूजीलैंड ने एक बार फिर से पहले टी-20 मैच के अंदाज में जबरदस्त शुरूआत की।

Photo Source: ICC

न्यूजीलैंड के ओपनिंग बल्लेबाज टिम सैफर्ट और कोलिन मुनरो ने विस्फोटक अंदाज में बल्लेबाजी करते हुए पहले विकेट के लिए 80 रन जोड़ डाले। इस मजबूत नींव का न्यूजीलैंड ने पूरा फायदा उठाते हुए बड़े स्कोर को तैयार किया। कोलिन मुनरो के 72 रन और सैफर्ट के 43 रनों की मदद से न्यूजीलैंड ने निर्धारित 20 ओवरों में 4 विकेट खोकर 212 रनों का विशाल स्कोर खड़ा कर दिया।आखिरी ओवरों में ग्रैंडहोम ने भी 16 गेंदों में 30 रन बनाए।

भारत की तरफ से कुलदीप यादव ने सबसे कसी हुई गेंदबाजी करते हुए 2 सफलता हासिल की तो वहीं भुवी और खलील को 1-1 विकेट मिला।

Photo Source: ICC

भारतीय टीम को सीरीज जीतने के लिए 213 रनों का बड़ा स्कोर पार करना था और वो बल्लेबाजी करने उतरी। भारतीय टीम की शुरुआत बहुत ही खराब रही और पहले ही ओवर में सेंटनर ने शिखर धवन को चलता किया।

लेकिन इसके बाद रोहित शर्मा और विजय शंकर ने करारे शॉट खेले और दूसरे विकेट के लिए 46 गेंदों में 75 रनों की भागीदारी कर भारत को मैच में बनाए रखा। शंकर के 43 रन के स्कोर पर आउट होने के बाद ऋषभ पंत ने आते ही तेवर दिखाए और 12 गेंदों में 28 रन की पारी खेली।

Photo Source: ICC

लेकिन इसके बाद भारतीय टीम को लगातार अंतराल में विकेट मिलते रहे। और भारतीय पारी दवाब में आती गई। रोहित(38), हार्दिक(21), धोनी(2) रन का योगदान दे सके।

आखिर में जब भारतीय टीम की हार तय नजर आ रही थी तो दिनेश कार्तिक नाबाद 33 रन और क्रुणाल पंड्या ने नाबाद 26 रनों की पारी की मदद से भारत को जीत की दहलीज तक पहुंचा दिया था लेकिन अंत में भारत को 4 रन की हार से निराशा का सामना करना पड़ा।