रोमन रेंस को हुई ल्यूकीमिया नामक ब्लड कैंसर की खतरनाक बीमारी, जाने कितनी गंभीर है यह बीमारी

रोमन रेन्स ने ल्यूकीमिया नामक ब्लड कैंसर की वजह से युनिवर्सल चैंपियनशिप छोड़ WWE से किनारा कर लिया है।

आज सुबह से ही रोमन रेन्स चर्चा का विषय बने हुए है। रोमन रेन्स ने 22 अक्टूबर की Raw में अचानक बताया कि वो युनिवर्सल चैंपियनशिप छोड़ रहे है और WWE से लम्बा ब्रेक ले रहे है। इस पर रोमन रेन्स ने कहा कि उन्हें ल्यूकीमिया नामक बीमारी है, इस कारण वह आगे रिंग में परफॉर्म नहीं कर सकते है।

रोमन रेन्स के WWE से ब्रेक लेने पर सभी फैंस दुखी है और सभी रोमन रेन्स के जल्दी स्वस्थ होने की उम्मीद कर रहे है। लेकिन क्या आप जानते है कि रोमन रेन्स को जो बीमारी हुई है वो क्या है और उसके रोमन रेन्स की सेहत पर क्या फर्क पड़ सकता है।

ल्यूकीमिया एक तरह का ब्लड कैंसर हैं

Roman Reignsल्यूकीमिया एक तरह का ब्लड कैंसर होता है। इस बीमारी में रक्त कोशिकाओं काफी तेजी से बढ़ने लगती है। इस वजह से कोशिकाएं तेजी से ज्यादा बढ़ने लगती हैं और लगातार टूटती रहती हैं। ल्यूकीमिया ब्लड कैंसर में शरीर की कोशिकाएं मरती नहीं है। इस कारण शरीर मे अतिरिक्त कोशिकाएं हो जाती है। इतना ही नहीं ल्युकीमिया ब्लड कैंसर के दौरान डीएनए मेंं भी बहुुुत दिक्कत होती है।

ल्यूकीमिया के क्या नुकसान है

Romanल्यूकीमिया ब्लड कैंसर से पीड़ित रोगी को बुखार रहता है। लगातार थकान के मारे बदन टूटता हुआ महसूस होता है। मांसपेशियों में कमी आती है जिनकी वजह से वजन कम होता है। इसके अलावा इस बीमारी के दौरान शरीर मे खून की कमी भी हो जाती है।

रोमन रेन्स को वापसी करने में कितना समय लगेगा

ल्यूकीमिया ब्लड कैंसर का ईलाज संभव है और सही उपचार से इसे ठीक किया जा सकता है। ल्यूकीमिया की थेरेपी हर 4 सप्ताह में एक बार की जाती है और इसे 3 से 5 बार दोहराया जाता है। इसका मतलब की इसके रोगी को ठीक होने में लगभग 4 से 6 महीने का समय लगता है। अर्थार्त रोमन रेन्स को WWE में वापसी करने के लिए ल्यूकीमिया का 6 महीने तक इलाज करवाना पड़ेगा और फिर एक-दो महीने के बेड रेस्ट के बाद रोमन रेन्स WWE में वापसी कर सकते है।

सम्बंधित ख़बरे